मंगलवार, 26 अप्रैल 2011

मुसलसल ख्यालों से मसरूफ़ियत बनी रही // musalsal khayaalo se masroofiyat bani rahi

जहन में 'फ़ुर्सत-तलबी'  की  जिहनियत बनी रही
पर मुसलसल ख्यालों से मसरूफ़ियत बनी रही

कुछ इस तरह पाला है 'शौक-ए-शायरी' ने
तमाम उम्र मिजाज़ में रूमानियत बनी रही

बदनाम हो गया हूँ कोई गुनाह किए बगैर
कुछ दोस्तों की मुझपर इनायत बनी रही

मिल जाए छुपकर ज़माने से तो परहेज़ नहीं
आला जहीन लोगों में भी ये नीयत बनी रही

ये सच है, नहीं रखी थी कोई कसर दुनिया ने
दुआएँ मां की साथ थीं, सो खैरियत बनी रही

यूं तो रहा है कातिलाना हरेक अंदाज़ जिसका
उसकी हर अदा में एक  मासूमियत बनी रही

चर्चे हमारे बेवजह सरेआम हो गए
कुछ दोस्तों में ऐसी नादानियत बनी रही

शामिल है मुख्तलिफ रंग तस्वीर में तेरी
शायद इसलिए मिजाज़ में रंगीनियत बनी रही

खाकर फरेब फिर उसी पर एतबार कर लेना
तमाम उम्र अपनी ये आदत  बनी रही

ज़ज्बात ज़रूरतों पर भारी है आज भी
शायद इसलिए 'अमित' की अहमियत बनी रही

**** **** **** **** **** **** **** ****

zahan me 'fursat-talbi' kii zihaniyat bani rahi
par musalsal khayaalo se masroofiyat bani rahi

kuchh is tarah pala hai shauk-e-shaayari ne
tamaam umr mizaaz me masroofiyat bani rahi

badnaam ho gaya hoon koi gunaah kiye bagair
kuchh dosto kii mujh par inaayat bani rahi

miljaaye chhup kar zamaane se to parhez nahi
aalaa zaheen logo me bhi ye inaayat bani rahi

ye sach hai nahi rakhi thi koi kasar duniya ne
duaaye maa kii saath thi so khairiyat bani rahi

yoon to rahaa hai qaatilaana harek andaaz jiska
uski har adaa me ek maasoomiyat bani rahi

charche hamaare bewajah sare aam ho gaye
kuchh doston me aisi naadaniyat bani rahi

shaamil hai mukhtalif rang tasweer me teri
shaayad isliye mizaaz me ranginiyat bani rahi

khaa kar fareb fir usi par aitbaar kar lena
tamaam umr apni ye aadat bani rahi

zazbaat zaroorato par bhaari hai aaj bhi
shaayad isliye 'amit' kii ahmiyat bani rahi
 
**** **** **** **** **** **** **** ****

* फ़ुर्सत-तलबी fursat-talbi      = Want of Relaxation
जिहनियत zihaniyat             = स्वभाव, प्रकृति, Nature 
* मसरूफ़ियत masroofiyat     = व्यस्तता, Engagement, Involvement
* मुसलसल musalsal              =  लगातार continuity
* रूमानियत roomaniyat         = Romanticism
* मुख्तलिफ mukhtalif           = Different
*  जहीन zaheen                      = आदरणीय, सम्मानित Respected, Honourable,

2 टिप्‍पणियां:

  1. ये सच है, नहीं रखी थी कोई कसर दुनिया ने
    दुआएँ मां की साथ थीं, सो खैरियत बनी रही
    वाह
    विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. अमित , आप को पढ़ कर अच्छा लगा . आप की ग़ज़लें बहुत खूबसूरत हैं .

    उत्तर देंहटाएं